महर्षि दयानन्द सरस्वती की 200वीं जयंती के अवसर पर यज्ञ, प्रवचन, शास्त्रार्थ, वैदिक चर्चा और प्रतियोगिताएं आयोजित

महर्षि दयानन्द सरस्वती की 200वीं जयंती के अवसर पर उनके जन्म स्थान टंकारा सहित पूरे देश में यज्ञ, प्रवचन, शास्त्रार्थ, वैदिक चर्चा और प्रतियोगिताएं आयोजित की गई हैं। इसी कड़ी में आर्य उप प्रतिनिधि सभा बस्ती के नेतृत्व में आर्य समाज लालगंज बस्ती में तीन दिवसीय वैदिक यज्ञ प्रवचन का समापन नेम प्रकाश आर्य द्वारा प्रदर्शित बाण विद्या प्रदर्शन और विद्वानों के सम्मान के साथ हुआ।

महर्षि दयानन्द सरस्वती ने पूरे विश्व को दिया वैदिक धर्म का संदेश :-

इस अवसर पर ओम प्रकाश आर्य प्रधान जिला आर्य उप प्रतिनिधि सभा बस्ती ने बताया कि महर्षि दयानन्द सरस्वती ने पूरे विश्व को वैदिक धर्म का संदेश देकर उन्हें वेदों की ओर लौटने का आह्वान किया। कार्यक्रम के अधिष्ठाता आचार्य सुरेश जोशी ने कहा कि आर्य समाज वैदिक संस्कारों को जन जन तक पहुंचाकर उन्हें संस्कारित बनाते हुए भारतवर्ष को विश्वगुरु बनाना चाहता है। इसके लिए ग्राम, नगर और महानगरों में निवास करने वाले लोगों के सहयोग से धर्म का संदेश दिया जा रहा है।

यज्ञ व विचार गोष्ठियों के द्वारा लोगों को किया जा रहा है जागरूक :-

प्रधान गिरिजाशंकर द्विवेदी ने बताया कि आर्य समाज समाज में व्याप्त अंधविश्वास को समाप्त करने के लिए निरन्तर प्रयत्नशील है जिसमें ग्रामीण स्तर पर यज्ञ व विचार गोष्ठियों के द्वारा भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। इस अवसर पर रुक्मिणी आर्य, सुरेन्द्र जी, चंद्रमुनि वानप्रस्थी, किरन बाला आर्य ने अपने भजनों एवं उपदेशों से आमजनमानस से वैदिक संस्कारों से अपने जीवन को सर्वोत्तम बनाने का संदेश दिया।

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से पवन कुमार, श्रवण कुमार, शेष कुमार, राजन, संतोष आर्य, चंदन कुमार, देवव्रत आर्य, मनीष मेंहदीरत्ता,शिवदयाल, वेद कुमार आर्य, हरिपति पाण्डेय, महिमा आर्य, रोहित आर्य, गणेश आर्य, गरुण ध्वज, उपेन्द्र आर्य, शिव श्याम, गरिमा दुबे, पुष्पा पाण्डेय, अभिषेक, राहुल, बुद्धिसागर,सीमा आर्य, चंद्रकला आर्य, उमाशंकर आर्य, रामप्रकाश, दुखरान प्रसाद सहित आसपास के गांव के सैकड़ों लोगों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया।गरुण ध्वज पाण्डेय

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles